पत्राचार में बहुप्रयुक्त वाक्यांश (पत्रों में अधिकांश प्रयोग होने वाले वाक्य)

इस प्रष्ठ पर पत्राचार में बहुप्रयुक्त वाक्यांश या अधिकांश प्रयोग होने वाले प्रमुख वाक्य दिये जा रहे हैं। ये वाक्य अक्सर पत्र लेखन के समय प्रयोग होते हैं। इन वाक्यों को पढ़ना इसलिए आवश्यक है क्योकि पत्र लिखते समय वाक्यों का रूप और क्रम गलत ना हो जाये। इन वाक्यों का ज्यों का त्यों रूप ही अच्छा लगता है इनमें परिवर्तन से पत्राचार की शैली पर फर्क पढ़ता है।

पत्राचार में बहुप्रयुक्त वाक्यांश

1. हम अपने पत्र क्रमांक-दिनांक-की ओर आपका ध्यान आकर्षित करना चाहते हैं।
2. आप सहमत होंगे-........................
3. उपरयुक्त विषय पर कृपया हमारा दिनांक-का पत्र क्रमांक-देखने का कष्ट करें।
4. यह पत्र आपके पत्र क्रमांक-दिनांक-के सन्दर्भ में है।
5. पत्र के साथ-की प्रति संलग्न है।
6. क्रपया शीघ्र उत्तर देने की व्यवस्था करें।
7. क्रपया पत्र की पावती भेजने का कष्ट करें।
8. मुझे निवेदन करने के लिए कहा गया है कि-..................
9. मुझे आपको यह सूचित करने के लिए निर्देश हुआ है कि-.............
10. निवेदन है कि...............।
11.............का पालन करते हुए।
12.............से परामर्श करके।
13.............का प्रयोग करते हुए।
14. ............का आशोधन करते हुए।
15............का उत्तर देते हुए।
16. ............के सम्बन्ध में सुझाव दिया जाता है कि-.........।
17. यह भी बताना उचित होगा कि-.............।
18. इसे प्राधिकार से जारी किया जा रहा है।
19. ...........की ओर ध्यान दें।
20. प्रमाणित किया जाता है कि-.............
21..........कार्यालय/विभाग को सूचित करते हुए।
22. .........ने इसका अनुमोदन कर दिया है।
23. आपके दिनांक-पत्र संख्या-के उत्तर में/अनुक्रम में/पुष्टि में/अनुपालन में।
24. आपके पत्र संख्या.........दिनांक..........के प्रसंग में।
25. इस सम्बन्ध में मुझे यह कहना है कि-................।
26. जैसा आपको नि:सन्देह विदित है कि-............।
27. आगे की प्रगति से अवगत कराएँ।
28. तत्काल सन्दर्भ के लिए प्रतिलिपि संलग्न हैं।
29. शीघ्र उत्तर भेज दें तो बड़ी कृपा होगी।
30. हम आपको विश्वसनीय सेवा का विश्वास दिलाते हैं।
31. ..............के परामर्श से निर्णय किया गया कि-1
32. इस सम्बन्ध में सचना एकत्र की जा रही है। आपको शीघ्र भेज दी जायेगी।
33. सम्बन्धित अधिकारी अवकाश पर है, अतः उनके आने पर ही जानकारी भेजी जा सकेगी।
34. औपचारिक स्वीकृति प्राप्त हो चुकी है।
35. आपके सुझाव से मैं सहमत नहीं हूँ।
36. अपने पत्र संख्या-दिनांक-में यह अनुरोध किया है कि-.............

पत्र के प्रकार और उनका प्रारूप

सामाजिक और निजी व्यवहार में विभिन्न अवसरों, घटनाओं, कार्य व्यापारों, मनोभावों, सूचनाओं और आवश्यकताओं को लेकर अनेक प्रकार के पत्र लिखे जाते हैं, पर सुविधा के लिए हम पत्र के आकार और विषय-वस्तु के आधार पर उनके तीन भेद या प्रकार माने जा सकते हैं-
  1. वैयक्तिक पत्र
  2. व्यावसायिक पत्र (व्यावहारिक कामकाजी पत्र)
  3. सरकारी या कार्यालयी पत्र

पत्रों के उदाहरण

  1. नियुक्ति आवेदन पत्र
  2. बैंक, विभिन्न व्यवसायों से सम्बंधित ऋण प्राप्ति हेतु आवेदन पत्र
  3. पर्यावरण से सम्बंधित वैज्ञानिक सोचपरक पत्र
  4. शिकायती पत्र