अवर शब्द के रूप (Avar Ke Shabd Roop) - संस्कृत

Avar Shabd

अवर शब्द (अन्य, दूसरा): अवर शब्द के अकारान्त पुल्लिंग शब्द के शब्द रूप, अवर (Avar) शब्द के अंत में "अ" का प्रयोग हुआ इसलिए यह अकारान्त हैं। अतः Avar Shabd के Shabd Roop की तरह अवर जैसे सभी अकारान्त पुल्लिंग शब्दों के शब्द रूप (Shabd Roop) इसी प्रकार बनाते है। अवर शब्द के शब्द रूप संस्कृत में सभी विभक्तियों एवं तीनों वचन में शब्द रूप (Avar Shabd Roop) नीचे दिये गये हैं।

अवर के शब्द रूप - Shabd roop of Avar

विभक्ति एकवचन द्विवचन बहुवचन
प्रथमा अवरः अवरौ अवरे, अवराः
द्वितीया अवरम् अवरौ अवरान्
तृतीया अवरेन अवराभ्याम् अवरैः
चतुर्थी अवरस्मै अवराभ्याम् अवरेभ्यः
पंचमी अवरस्मात् अवराभ्याम् अवरेभ्यः
षष्ठी अवरस्य अवरयोः अवरेषाम्
सप्तमी अवरस्मिन् अवरयोः अवरेषु
सम्बोधन हे अवर ! हे अवरौ ! हे अवरे, अवराः !

अवर शब्द का अर्थ/मतलब

अवर शब्द का अर्थ अन्य, दूसरा; अश्रेष्ठ, अधम, नीच; पिछला (माग); अंतिम (को॰); पश्चिमी (को॰); निकटतम । दूसरा [को॰]; अत्यंत श्रेष्ठ [को॰]; वि॰ [सं॰ अ + बल]- निर्बल, बलहीन; संज्ञा पुं॰ -अतीत काल, हाथी का पिछला भाग होता है। अवर शब्द अकारान्त शब्द है इसका मतलब भी 'अन्य, दूसरा' होता है।

अवर जैसे और महत्वपूर्ण शब्द रूप

उपर्युक्त शब्द रूप अवर शब्द के अकारान्त पुल्लिंग शब्द के शब्द रूप हैं अवर जैसे शब्द रूप (Avar shabd Roop) देखने के लिए Shabd Roop List पर जाएँ।